Ad Code

कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए योग आसन | Cholesterol Kam Karne Ke Liye Yoga

कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए योग आसन | Cholesterol Kam Karne Ke Liye Yoga

कोलेस्ट्रॉल मोम की तरह एक पदार्थ होता है जिसका निर्माण यकृत में होता हैं। कोलेस्ट्रॉल सभी मनुष्यों में पाया जाता हैं। इससे शरीर में विटामिन डी, हार्मोन्स और पित्त का निर्माण होता हैं साथ ही शरीर के अंदर पाए जाने वाले वसा को पचाने में यह मदद करता हैं। माँसाहारी भोजन और डेयरी उत्पादों से यह शरीर में पहुँचता है। फलों, सब्जियों और अनाजों में कोलेस्ट्रॉल नहीं पाया जाता हैं। जब तक कोलेस्ट्रॉल सीमित रहता है तब तक यह ठीक है लेकिन जब इसकी मात्रा बढ़ने लगती है तब हमें दिल का दौरा या डायबिटीज होने का खतरा बढ़ जाता हैं। इसलिए कोलेस्ट्रॉल का कंट्रोल में रहना बहुत जरुरी होता हैं। यहाँ बतायें गये योगासन से आप अपने कोलेस्ट्रॉल को बहुत आसानी से कम कर सकते हैं।

कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए योग आसन | Cholesterol Kam Karne Ke Liye Yoga


1. सर्वांगासन

कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए योग आसन | Cholesterol Kam Karne Ke Liye Yoga

➤ सर्वांगासन करने के लिए योग मेट पर पीठ के बल लेट जाये।
➤ अब अपने दोनों पैरों को आपस में मिलाले और अपने पैरों, नितम्बों और कमर को ऊपर उठाले।
➤ अपनी कमर को हाथों से सहारा दें।
➤ आपके शरीर का पूरा वजन आपके कंधों पर रहना चाहिए।
➤ अपने पैरों को सीधा रखें।
➤ आपकी नजर आपके पैरों के अंगूठों पर रहनी चाहिए।
➤ कुछ देर इस स्थिति को बनाये रखने के बाद वापस सामान्य स्थिति में आ जायें।

2. पश्चिमोत्तनासन


कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए योग आसन | Cholesterol Kam Karne Ke Liye Yoga

➤ इसे करने के लिए योग मेट बिछाले और बैठजाये।
➤ अपने दोनों पैरों को सामने की तरफ फैलाले और घुटनों को सीधा रखें।
➤ अब साँस ले और अपनी कमर को सीधा करें।
➤ साँस छोड़ते हुए कमर को सामने की तरफ झुकायें और अपने हाथों से पैरों के अंगूठे को छूने का प्रयास करें।
➤ कुछ देर इस स्थिति में रुके फिर अपनी कमर वापस सीधी कर लें।

3. चक्रासन

कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए योग आसन | Cholesterol Kam Karne Ke Liye Yoga

➤ चक्रासन करने के लिए पीठ के बल योग मेट पर लेट जाये।
➤ अपने पैरों को नितम्बों के पास रखें।
➤ अपने हाथों को कानों के बगल में रखें।
➤ अब अपने नितम्बों, कमर और पीठ को ऊपर उठाले।
➤ आपके शरीर का वजन हाथों और पैरों पर रहना चाहिए।
➤ कुछ देर तक रुके और वापस सामान्य स्थिति में पुनः आ जायें।

4. भुजंगासन

कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए योग आसन | Cholesterol Kam Karne Ke Liye Yoga

➤ भुजंगासन करने के लिए योग मेट पर पेट के बल लेट जाये।
➤ अपने पैरों के बीच लगभग आधा फुट का अंतर रखें।
➤ अब अपने हाथों को अपने सीने के बगल में रखें।
➤ साँस लेते हुए सिर, कंधों और कमर को ऊपर उठाने का प्रयास करें।
➤ कुछ देर तक रुके और फिर वापस सामान्य स्थिति में आ जाये।

5. नौकासन

कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए योग आसन | Cholesterol Kam Karne Ke Liye Yoga

➤ नौकासन करने के लिए पीठ के बल योग मेट पर लेट जायें।
➤ अपने पैरों को आपस में मिलाले।
➤ अब अपने पैरों को ऊपर उठाने का प्रयास करें और साथ में अपने सिर, कंधों और कमर को भी ऊपर उठायें।
➤ आपका पूरा वजन आपके नितम्बों पर रहना चाहिए।
➤ अपने हाथों को सीधा घुटनों की सीध में रखें।
➤ कुछ देर तक यह स्थिति बनाये रखें और फिर वापस सामान्य स्थिति में आ जायें। 

आमतौर पर पूछे जाने वाले सवाल और उनके जवाब

(1) कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए क्या करे?

कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए आपको नियमित योग करना चाहिए। योग में आपको सर्वांगासन, पश्चिमोत्तानासन, चक्रासन, भुजंगासन और नौकासन जैसे आसनों का अभ्यास करना चाहिए। इन आसनों का अभ्यास करने के साथ ही आपको अपनी डाइट में अलसी पाउडर को शामिल करना चाहिए। अलसी में लिनोलेनिक एसिड और ओमेगा 3 फैटी एसिड पाए जाते हैं जो एलडीएल कोलेस्ट्रॉल का लेवल कम करने में मदद करते हैं। आप इसे गर्म पानी या दूध के साथ ले सकते हैं। आपको लहसुन का सेवन करना चाहिए। लहसुन पाचन और ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में मदद करता है साथ ही वजन भी घटाता है। लहसुन कोलेस्ट्रॉल लेवल को कंट्रोल रखने में भी मदद करता है। आप हर रोज लहसुन की एक या दो कली को छिलके के साथ ही चवा सकते हैं। इसमें एलिसिन नामक यौगिक पाया जाता है जो कोलेस्ट्रॉल को स्वाभाविक रूप से कंट्रोल करने का कार्य करता है। नींबू का सेवन करना भी कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद करता है। नींबू इंफेक्शन और कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए जाना जाता है। इसमें विटामिन सी अच्छी मात्रा में पाया जाता है। नींबू बुरे कोलेस्ट्रॉल को पाचन तंत्र के जरिए शरीर से बाहर निकाल देता है।


(2) कोलेस्ट्रॉल बढ़ने पर क्या क्या नहीं खाना चाहिए?

कोलेस्ट्रॉल बढ़ने का सबसे प्रमुख कारण खराब खान-पान को माना जाता है। आज के समय में बहुत से लोग कोलेस्ट्रॉल की परेशानी से जूझ रहे हैं। कोलेस्ट्रॉल बढ़ जाने से हार्ट अटैक, स्ट्रोक जैसी बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है।आज के समय में जंक फूड और प्रोसैस्ड फूड का चलन बढ़ता जा रहा है। कोल्ड ड्रिंक, तेल से बनी चीजें, मैदा, अधिक चीनी, फास्ट फ़ूड कोलेस्ट्रॉल के बढ़ने के सबसे प्रमुख कारण होते हैं। शरीर में एलडीएल (खराब कोलेस्ट्रॉल) लेबल बढ़ने से खून की नसें बंद हो जाती है जिससे स्ट्रोक या दिल का दौरा पड़ सकता है।


(3) कोलेस्ट्रॉल कितने दिन में ठीक होता है?

यदि आप नियमित रूप से योग करते हैं और अपनी डाइट में फल, हरी सब्जियां, अंकुरित अनाज को शामिल करते हैं साथ ही फास्ट फूड, अधिक तेल मसाले वाले पदार्थ, अधिक मात्रा में शक्कर का प्रयोग करना बंद कर देते हैं तो आपको एक से डेढ़ महीने में ही कोलेस्ट्रॉल ठीक होता नजर आने लगता है।


(4) नींबू खाने से कोलेस्ट्रॉल कम होता है क्या?

नींबू में विटामिन सी पाया जाता है जो रक्त वाहिका नलियों की सफाई करता है। साथ ही नींबू में घुलनशील फाइबर पाए जाते हैं जो खाने की थैली से बैड कोलेस्ट्रॉल को रक्त प्रवाह में जाने से रोक देते हैं और बैड कोलेस्ट्रॉल को पाचन तंत्र के माध्यम से शरीर से बाहर निकाल देता हैं इसलिए नींबू खाने से कोलेस्ट्रॉल कम होता है।


(5) कोलेस्ट्रॉल बढ़ने के लक्षण क्या होते हैं?

शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ जाने पर सेहत से जुड़ी कई परेशानियां होने लगती है। यदि इन पर समय रहते ध्यान नहीं दिया जाता है तो आगे चलकर हमें कई गंभीर बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है। जब शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ती है तो कुछ लक्षण भी दिखने लगते हैं। कोलेस्ट्रॉल बढ़ने पर सीने में दर्द उठने की परेशानी हो सकती है। थोड़े-थोड़े दिनों के अंतराल पर यदि आपके सीने में दर्द होता है तो यह कोलेस्ट्रॉल बढ़ने का लक्षण हो सकता है। कोलेस्ट्रॉल के बढ़ने पर हमारा वजन अचानक से बढ़ने लगता है। जब आपका वजन अचानक से बढ़ना शुरू हो जाए तब आपको कोलेस्ट्रॉल की जांच जरूर करा लेना चाहिए क्योंकि तेजी से वजन बढ़ना कोलेस्ट्रॉल बढ़ने का लक्षण होता है। यदि आपकी त्वचा की ऊपरी परत पर पीले चकते नजर आने लगते हैं तो यह भी कोलेस्ट्रॉल बढ़ने का एक लक्षण है। आमतौर पर हम सभी को पसीना आता है लेकिन बहुत ज्यादा पसीना आना कोलेस्ट्रॉल बढ़ने का एक लक्षण हो सकता है। पैरों में दर्द होना, शरीर के अलग-अलग हिस्सों में दर्द होना और किसी कार्य को करते समय जल्दी थक जाना भी कोलेस्ट्रॉल बढ़ने के लक्षण हो सकते हैं।


(6) चाय पीने से कोलेस्ट्रॉल बढ़ता है क्या?

चाय में यदि मिल्क पाउडर का इस्तेमाल किया जाए या अधिक मात्रा में शक्कर का इस्तेमाल किया जाए तो यह आपके कोलेस्ट्रॉल को बढ़ा सकती है। यदि आप काली चाय का सेवन करते हैं तो काली चाय आपके कोलेस्ट्रॉल के स्तर को सुधारने में मदद कर सकती है।


(7) कोलेस्ट्रॉल बढ़ने का मुख्य कारण क्या है?

कोलेस्ट्रॉल बढ़ने का सबसे मुख्य कारण हमारी खराब जीवनशैली है। आज के समय में हम अपने स्वास्थ्य के प्रति जागरूक नहीं हैं। हम जंक फूड अधिक खाते हैं और हेल्दी फूड को अवॉइड करते हैं, रात में देर से सोते हैं और मोबाइल फोन का अधिक इस्तेमाल करते हैं। इन सबका हमारे स्वास्थ्य पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है और हमारा कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ जाता है जो आगे चलकर कई सारी बीमारियों का कारण बन सकता है। यदि आप अपनी खराब जीवनशैली को सुधारते हैं तो अपने बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल को भी सुधार सकते हैं।


(8) दही खाने से कोलेस्ट्रॉल बढ़ता है क्या?

दही खाने से कोलेस्ट्रॉल नहीं बढ़ता है। दही में प्रोबायोटिक्स लैक्टोबैसिलियम एसिडोफिलिस पाया जाता है जो कोलेस्ट्रॉल के स्तर को घटाने में मदद करता है।


(9) कोलेस्ट्रोल बढ़ जाए तो क्या खाना चाहिए?

कोलेस्ट्रोल बढ़ जाने पर अलसी खाना चाहिए। अलसी में ओमेगा-3 फैटी एसिड पाया जाता है। बादाम खाना चाहिए, बादाम में मोनोअनसैचुरेटेड फैट होता है जो खराब कोलेस्ट्रोल को दूर करता है और अच्छे कोलेस्ट्रोल की मात्रा को बढ़ाता है। कोलेस्ट्रोल के बढ़ने पर हमें फल, हरी सब्जियां और साबुत अनाज खाना चाहिए। इनमें एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं जो कोलेस्ट्रोल को कम करने में मदद करते हैं। दही, नींबू, ग्रीन टी भी कोलेस्ट्रोल के लेवल को कम करने में मदद करते है।


(10) कोलेस्ट्रॉल जल्दी कैसे कम करें?

कोलेस्ट्रॉल जल्दी कम करने के लिए आपको फास्ट फूड, तेल मसाले वाले खाद्य पदार्थ, प्रिजर्वेटिव फूड, शराब जैसी चीजों को छोड़ देना चाहिए और अधिक से अधिक हरी पत्तेदार सब्जियां, अंकुरित अनाज, ड्राई फ्रूट्स खाने चाहिए। इसके साथ ही नियमित रूप से योग अभ्यास करना चाहिए। इन तरीकों को अपनाकर आप कोलेस्ट्रॉल जल्दी कम कर सकते हैं।


(11) चावल खाने से कोलेस्ट्रॉल बढ़ता है क्या?

चावल खाने से कोलेस्ट्रॉल नहीं बढ़ता है क्योंकि चावल कोलेस्ट्रॉल फ्री होता है। इसमें वसा की मात्रा कम होती है और कैलोरी भी गेहूं की अपेक्षा कम पाई जाती है। चावल पचने में भी आसान होता है।


(12) कोलेस्ट्रॉल बढ़ने पर दूध पी सकते हैं क्या?

कोलेस्ट्रॉल बढ़ने पर दूध जरूर पीना चाहिए। एक रिसर्च के मुताबिक दूध पीने से कोलेस्ट्रॉल का लेवल कम हो जाता है। दूध पीने से गुड कोलेस्ट्रॉल और बैड कोलेस्ट्रॉल दोनों का ही लेवल कम हो जाता है।

यह भी पढ़े:-

माइग्रेन के लिए योग
मंडूकासन के फायदे
लंबाई बढ़ाने का योग
सर्वाइकल के लिए योग
दिमाग तेज करने के योग


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Ad Code