Categories: योग

योग फॉर वैरिकोज वेन्स इन हिंदी | Yoga For Varicose Veins In Hindi

Share

जब शरीर में नसें फूल जाती है, फ़ैल जाती है और इनका रंग लाल, नीला और बैंगनी हो जाता है तब इसे वैरिकोज वेन्स कहा जाता है। वैरिकोज वेन्स होने पर नसें पतली हो जाती है और इनमें खून भर जाता है जिससे खून का संचालन सही तरह से नहीं हो पाता है। यह परेशानी आमतौर पर पैरों में होती है लेकिन यह शरीर के अन्य हिस्सों में भी हो सकती है। वैरिकोज वेन्स की परेशानी आमतौर पर महिलाओं को देखने में आती है लेकिन यह परेशानी पुरुषों को भी हो सकती है। यह परेशानी विशेष रूप से उन लोगों में देखने में आती है जिन्हें दिन भर बैठ कर काम करना होता है।

वैरिकोज वेन्स की परेशानी से बचने का सबसे अच्छा उपाय योग है। नियमित रूप से योग करके इस परेशानी से बचा जा सकता है। साथ ही अपने आहार में हरी सब्जियों, फल, दूध, अंकुरित अनाज को शामिल करना और अधिक मात्रा में नमक का सेवन ना करके भी इस परेशानी से बचा जा सकता है।

वैरिकोज वेन्स होने के प्रमुख कारण

(1) मोटापा: मोटापा बढ़ जाने से नसों पर दबाव भी बढ़ जाता है जिससे वैरिकोज वेंस होने की संभावना भी बढ़ जाती है।

(2) फैमिली हिस्ट्री: अगर आपके परिवार के किसी सदस्य को पहले से वैरिकोज वेन्स की समस्या है तो आपको भी वैरिकोज वेन्स की समस्या हो सकती है।

(3) लंबे समय तक एक ही स्थान पर बैठे रहना या खड़े रहना: अगर आप ऐसा कार्य करते हैं जिसमें आपको लंबे समय तक बैठे रहना पड़ता है या आप लंबे समय तक खड़े रहते हैं तो इससे नसों में खिंचाव बढ़ जाता है जिससे ब्लड सही तरीके से संचालित नहीं हो पाता है और वैरिकोज वेन्स होने की संभावना बढ़ जाती है।

(4) बढ़ती उम्र: ज्यादा उम्र होने पर भी वैरिकोज वेन्स होने की संभावना बढ़ जाती है।

(5) महिलाओं को खतरा: महिलाओं में वैरिकोज वेन्स होने की संभावना ज्यादा होती है। पीरियड्स में, प्रेगनेंसी के दौरान महिलाओं में हार्मोनल चेंज आते है, इस वजह से वैरिकोज वेन्स का खतरा बढ़ जाता है।

यह भी पढ़े: एड़ी के दर्द के लिए योगा

योग फॉर वैरिकोज वेन्स इन हिंदी (Yoga For Varicose Veins In Hindi)

वैरिकोज वेन्स की परेशानी से बचने के लिए यहां पर कुछ योग बताए जा रहे हैं जिनका नियमित रूप से अभ्यास करके वैरिकोज वेन्स की परेशानी को दूर किया जा सकता है या उससे बचा जा सकता है।

ताड़ासन योग फॉर वैरिकोज वेन्स इन हिंदी

➣ ताड़ासन योग करने से रक्त परिसंचरण तंत्र सही तरीके से कार्य करता है जिससे वैरिकोज वेन्स की समस्या दूर होती है।
➣ ताड़ासन योग करने के लिए योग मैट पर सीधे खड़े हो जाएं।
➣ नजरें सामने की तरफ होना चाहिए।
➣ अब सांस लेते हुए अपने दोनों हाथों को सिर के ऊपर तक ले जाएं और अपने दोनों हाथों को आपस में इंटरलॉक करें।
➣ अब अपने पूरे शरीर को ऊपर खींचने का प्रयास करें।
➣ ऐसा करते समय आपके शरीर का भार पैर के पंजों पर होना चाहिए।
➣ कुछ देर तक इस स्थिति में रुके और फिर वापस सामान्य स्थिति में आ जाएं।
➣ यह एक चक्र हुआ। इस तरह से 10 से 15 चक्र किए जा सकते हैं।

नौकासन योग फॉर वैरिकोज वेन्स इन हिंदी

➣ नौकासन योग करने से पाचन शक्ति, तंत्रिका तंत्र, मांसपेशियां मजबूत होती हैं जिससे वैरिकोज वेन्स की परेशानी दूर होती है।
➣ नौकासन करने के लिए पेट के बल योग मेट पर लेट जाएं।
➣ अब अपने कंधों, सिर और पैरों को एक साथ ऊपर उठाने का प्रयास करें।
➣ पैरों के घुटने सीधे रहने चाहिए।
➣ अपने हाथों को कंधों और पैर के घुटनों की सीध में रखें।
➣ आपकी नजरें पैर के अंगूठे पर होना चाहिए।
➣ कुछ देर तक इसी स्थिति में रुके फिर वापस सामान्य स्थिति में आ जाएं।

शीर्षासन योग फॉर वैरिकोज वेन्स इन हिंदी

➣ शीर्षासन योग करने से पूरे शरीर में रक्त परिसंचरण तंत्र सही तरीके से कार्य करता है, जिससे वेरिकोज वेन्स की परेशानी को आसानी से दूर किया जा सकता है।
➣ शीर्षासन योग करने के लिए योग मेट पर आराम से बैठ जाएं।
➣ अब अपने दोनों हाथों को आपस में बांध लें और अपनी हथेलियों को सामने की तरफ जमीन पर रखें।
➣ हथेलियां आसमान की तरफ होनी चाहिए।
➣ अब अपने सिर को अपनी हथेलियों पर रखें और सावधानी से अपने पैरों को ऊपर ले जाने का प्रयास करें।
➣ आपके शरीर का पूरा वजन आपके सिर पर होना चाहिए।
➣ ऐसी स्थिति में आप अपने सिर के बल पूरी तरह खड़े हो जाएंगे।
➣ कुछ देर तक इस स्थिति में रुके फिर वापस सामान्य स्थिति में आ जाएं।

यह भी पढ़े: फेस के लिए योग

पादहस्तासन योग फॉर वैरिकोज वेन्स इन हिंदी

➣ पादहस्तासन करने से रक्त का संचार पैरों की तरफ अच्छे से होता है जिससे वैरिकोज वेन्स की परेशानी दूर होती है।
➣ पादहस्तासन करने के लिए योग मेट पर सीधे खड़े हो जाएं।
➣ सांस लेते हुए अपने दोनों हाथों को सिर के ऊपर तक उठाएं।
➣ अब सांस छोड़ें और सांस छोड़ते हुए सामने की तरफ झुकना शुरू करें।
➣ अपने माथे को अपने घुटनों से लगाने का प्रयास करें और अपने हाथों से जमीन को छूने का प्रयास करें।
➣ कुछ देर तक इसी स्थिति में रुके फिर सांस लेते हुए वापस पहली स्थिति में आ जाएं।
➣ इस तरह से इस आसन के 10 से 15 चक्र किए जा सकते हैं।

पश्चिमोत्तासन योग फॉर वैरिकोज वेन्स इन हिंदी

➣ पश्चिमोत्तानासन करने से रक्त का संचार पैरों की तरफ बढ़ जाता है जिससे वैरिकोज वेन्स की परेशानी दूर होती है।
➣ पश्चिमोत्तानासन करने के लिए योग मेट पर दंडासन में बैठ जाएं।
➣ सांस लेते हुए अपने हाथों को सिर के ऊपर तक उठाएं।
➣ अब सांस छोड़ते हुए सामने की तरफ झुकना शुरु कर दें।
➣ अपने हाथों से पैरों के अंगूठे को छूने का प्रयास करें और अपने माथे को अपने घुटनों से लगाएं।
➣ कुछ देर तक इस स्थिति में बने रहे फिर सांस लेते हुए वापस पहली स्थिति में आ जाएं।
➣ यह प्रक्रिया 10 से 15 बार की जा सकती है।

हलासन योग फॉर वैरिकोज वेन्स इन हिंदी

➣ हलासन करने से भी रक्त परिसंचरण तंत्र सुचारू रूप से कार्य करता है जिससे वैरिकोज वेन्स की समस्या दूर होती है।
➣ हलासन करने के लिए योग मेट पर लेट जाएं।
➣ अब अपने दोनों पैरों को एक साथ ऊपर उठाएं और उन्हें अपने सिर के पीछे तक ले जाएं।
➣ पैर के पंजे जमीन पर होने चाहिए और पैर के घुटने सीधे रहने चाहिए।
➣ सामान्य रूप से सांस लेते रहें और कुछ देर तक इस स्थिति में रुके रहे।
➣ कुछ देर तक रुकने के बाद वापस सामान्य स्थिति में आ जाएं।

यह भी पढ़े: पेट की गैस के लिए योग

पवनमुक्तासन योग फॉर वैरिकोज वेन्स इन हिंदी

➣ पवनमुक्तासन करने के लिए पीठ के बल लेट जाएं।
➣ अब अपने दोनों घुटनों को मोड़ते हुए पैरों को सीने के पास लाएं।
➣ साथ ही अपने सिर और कंधों को भी थोड़ा ऊपर उठाने का प्रयास करें।
➣ अब अपने हाथों से पैरों के घुटने को पकड़ ले।
➣ सामान्य रूप से सांस लेते रहें और कुछ देर तक ऐसी स्थिति में रुके।
➣ इसके बाद वापस सामान्य स्थिति में आ जाएं।

मत्स्यासन योग फॉर वैरिकोज वेन्स इन हिंदी

➣ मत्स्यासन करने के लिए योग मेट बिछा लें और पीठ के बल लेट जाएं।
➣ अब अपने दोनों पैरों से पद्मासन बना लें।
➣ अपने दोनों हाथों के सपोर्ट से अपने सिर और कमर को ऊपर उठा ले।
➣ आपके शरीर का वजन आपके सिर के पिछले हिस्से और नितंबों पर रहना चाहिए।
➣ अब अपने हाथों से अपने पैरों के पंजों को पकड़ ले।
➣ सामान्य रूप से सांस लेते रहें और इसी स्थिति में कुछ देर तक रुके।
➣ कुछ देर रुकने के बाद वापस सामान्य स्थिति में आ जाएं।

सारांश

वैरिकोज वेन्स की परेशानी उन लोगों में आमतौर पर देखने में आती है जो लंबे समय तक बैठकर कार्य करते हैं या जिन्हें ज्यादा देर तक खड़े रहना पड़ता है, और यह परेशानी महिलाओं में भी विशेष रूप से देखने में आती है। इसे दूर करने के लिए नियमित योग सबसे अच्छा माध्यम है, साथ ही अपने आहार में भी सुधार करना जरूरी है। योग का नियमित अभ्यास सभी प्रकार की बीमारियों से बचाता है और नियमित योग करके बड़ी से बड़ी बीमारी से भी बचा जा सकता है।

यह भी पढ़े:-
मंडूकासन | मंडूकासन के फायदे
माइग्रेन के लिए योग
कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए योग आसन
कपालभाति प्राणायाम, कपालभाति के लाभ
पेट कम करने के योगासन

Published by
admin

Recent Posts

बवासीर के लिए योग- बवासीर का प्राकृतिक उपचार

बवासीर के लिए योग- बवासीर का प्राकृतिक उपचार वर्तमान में हम जिस तरह की भागदौड़… Read More

5 days ago

कमर दर्द का योग- कमर दर्द दूर करने के लिए आसान योग

कमर दर्द का योग- कमर दर्द दूर करने के लिए आसान योग आज के समय… Read More

6 days ago

त्वचा की चमक बढ़ाने वाले योग

त्वचा की चमक बढ़ाने वाले योग आज के समय में कम उम्र में ही चेहरे… Read More

7 days ago

बीपी कम करने के लिए योग

बीपी कम करने के लिए योग वर्तमान समय में हाई ब्लड प्रेशर आम समस्या बनती… Read More

1 week ago

मोटापा कम करने का योगा

मोटापा कम करने का योगा आज के समय में मोटापा आम बात होता जा रहा… Read More

1 week ago

स्मरण शक्ति बढ़ाने के योग

स्मरण शक्ति बढ़ाने के योग वर्तमान समय में लोगों की याददाश्त में कमी आ रही… Read More

2 weeks ago