Categories: योग

सीने में दर्द के लिए योग

Share

सीने में दर्द के लिए योग

सीने में दर्द होने के कई सारे कारण हो सकते हैं जैसे कि दिल, फेफड़े, मांसपेशियों, पसलियों, नसों में कोई परेशानी होना, महिलाओं में पीरियड से पहले सीने में दर्द की शिकायत हो सकती है। इसके साथ ही अधिक मेहनत करना, अत्यधिक तनाव या अवसाद में रहना, हृदय की मांसपेशी में सूजन होना, अल्सर और गैस्ट्रिक से जुड़ी परेशानियां होना सीने में दर्द होने के कारण हो सकते हैं।

सीने में दर्द होने पर आमतौर पर लोग इसे हार्ट अटैक समझ बैठते हैं और घबडा जाते हैं। इससे बचने के लिए वे डॉक्टरों से ट्रीटमेंट करवाते हैं और दवाइयों का सेवन करते हैं जबकि यह दर्द सामान्य योग करके ठीक किया जा सकता है। यहां पर हम आपको कुछ योगासन बता रहे हैं जिनका नियमित अभ्यास आपको सीने में दर्द होने की परेशानी से हमेशा के लिए छुटकारा दिला सकता है।

सीने में दर्द के लिए योग भुजंगासन

➢ जब हम भुजंगासन करते हैं तब सीने की मांसपेशियां लचीली व मजबूत बनती हैं जिससे सीने में मौजूद अकड़न दूर होती है और सीने का दर्द दूर हो जाता है।
➢ भुजंगासन करने के लिए चटाई पर पेट के बल लेट जाएं।
➢ अपने दोनों हाथों को अपने सीने के बगल में रखें।
➢ यह भी पढ़े: योग क्या है, योग कितने प्रकार के होते हैं
➢ अपने दोनों पैरों के बीच में थोड़ा सा अंतर बना लें।
➢ अब सांस लेते हुए अपने सिर, कंधों और पेट को जमीन से ऊपर उठाएं।
➢ आपको अपनी नाभि तक के हिस्से को ऊपर उठाना है।
➢ अपने सिर को जितना हो सके पीछे की तरफ ले जाने का प्रयास करना है।
➢ इस स्थिति में कुछ सेकेंड रुकने के बाद सांस छोड़ते हुए वापस सामान्य स्थिति में आ जाना है।
➢ इस तरह से आप भुजंगासन के 8 से 10 चक्र करें।

सीने में दर्द के लिए योग धनुरासन

➢ धनुरासन करने से भी सीने की मांसपेशियां लचीली व मजबूत होती हैं और सीने के दर्द से राहत मिलती है।
➢ धनुरासन करने के लिए चटाई पर पेट के बल लेट जाएं।
➢ अब अपने हाथों से अपने पैरों के पंजे को पकड़ने का प्रयास करें।
➢ अब अपने पूरे शरीर को धनुष की तरह खींचने का प्रयास करें।
➢ इस स्थिति में आपको सामान्य रूप से सांस लेते रहना है।
➢ कुछ देर तक इस स्थिति में रुकने के बाद वापस सामान्य स्थिति में आ जाना है।

सीने में दर्द के लिए योग उष्ट्रासन

➢ उष्ट्रासन करने से भी सीने की मांसपेशियां लचीली व मजबूत होती हैं और सीने के दर्द से राहत मिलती है।
➢ उष्ट्रासन करने के लिए चटाई पर घुटनों के बल बैठ जाएं।
➢ अब अपने सिर और कंधों को पीछे ले जाते हुए अपने हाथों से अपने पैरों के पंजे को पकड़ ले।
➢ इस स्थिति में आपको समान रूप से सांस लेते रहना है।
➢ कुछ देर इस स्थिति में रुकने के बाद वापस सामान्य स्थिति में आ जाना है।

सीने में दर्द के लिए योग चक्रासन

➢ चक्रासन करने से भी सीने की मांसपेशियां लचीली व मजबूत बनती हैं और सीने के दर्द से हमें राहत मिलती है।
➢ चक्रासन करने के लिए चटाई पर पीठ के बल लेट जाएं।
➢ अब अपने दोनों हाथों को सिर के बगल में रख ले।
➢ अपने दोनों पैरों को अपने शरीर के जितने पास हो सके उतने पास रख ले।
➢ अपने पूरे शरीर को ऊपर उठा ले।
➢ ऐसी स्थिति में आपके शरीर का पूरा वजन आपके हाथों और पैरों पर रहना चाहिए।
➢ अपने शरीर को जितना हो सके ऊपर की तरफ खींचने का प्रयास करें और अपने सिर को पीछे की तरफ ले जाने का प्रयास करें।
➢ इस स्थिति में कुछ देर रुकने के बाद वापस सामान्य स्थिति में आ जाएं।

सीने में दर्द के लिए योग बीतिलासन

➢ बीतिलासन करने से भी सीने की मांसपेशियां लचीली व मजबूत बनती है और सीने में दर्द से राहत मिलती है।
➢ बीतिलासन करने के लिए चटाई पर अपने घुटने व हाथ टेककर बैठ जाएं।
➢ अपने पैरों के पंजों को आसमान की तरह करें।
➢ अपने हाथों की कोहनियों को सीधा रखें।
➢ अब सांस लेते हुए अपने नितंबों को जितना हो सके ऊपर उठाने का प्रयास करें।
➢ अपनी गर्दन को सीधा रखें और सामने की तरफ देखते रहे।
➢ इस स्थिति में आपको कुछ देर तक बने रहना है।
➢ कुछ देर इस स्थिति में रुकने के बाद वापस सामान्य स्थिति में आ जाना है।

सीने में दर्द के लिए योग मत्स्यासन

➢ मत्स्यासन करने से भी सीने की मांसपेशियां लचीली पर मजबूत होती है और सीने में दर्द की परेशानी से छुटकारा मिलता है।
➢ मत्स्यासन करने के लिए चटाई पर पीठ के बल लेट जाएं।
➢ अब अपने पैरों से पद्मासन लगा लें और अपने पैरों के घुटनों को जमीन पर रख लें।
➢ यह भी पढ़े: जल्दी हाइट बढ़ाने के योग कौन से है
➢ अपने शरीर का वजन अपनी कोहनियों पर डालते हुए अपने सिर को ऊपर उठा ले और सिर के ऊपरी हिस्से को जमीन पर रख लें।
➢ अब अपने हाथों से अपने पैरों के अंगूठे को पकड़ले।
➢ इस स्थिति को मत्स्यासन कहा जाता है।
➢ इस स्थिति में कुछ देर रुकने के बाद वापस सामान्य स्थिति में आ जाएं।

सीने में दर्द के लिए योग पादहस्तासन

➢ पादहस्तासन करने से सीने की मांसपेशियां लचीली व मजबूत बनती है और उनमें मौजूद दर्द दूर होता है।
➢ पादहस्तासन करने के लिए चटाई पर सीधे खड़े हो जाएं।
➢ अपनी रीढ़ की हड्डी और कमर को सीधा रखें।
➢ गहरी सांस लेते हुए अपने दोनों हाथों को सामने की तरफ से ऊपर उठा ले।
➢ अपने हाथों को सिर के ऊपर तक ले जाएं।
➢ अब सांस छोड़ते हुए अपनी कमर को सामने की तरफ झुकाना शुरू करें।
➢ सामने की तरफ झुकते समय आपके रीढ़ की हड्डी सीधी रहनी चाहिए।
➢ अपने हाथों से अपने पैरों के पंजों को छूने का प्रयास करें।
➢ कुछ सेकेंड के लिए ऐसी स्थिति में रुके फिर सांस लेते हुए वापस सामान्य स्थिति में आ जाएं।
➢ इस तरह से आप पादहस्तासन के 10 से 12 चक्र करें।

सीने में दर्द के लिए योग पर्वतासन

➢ पर्वतासन करने से भी सीने की मांसपेशियाँ लचीली व मजबूत होती हैं और उनमें मौजूद दर्द दूर होता है।
➢ पर्वतासन करने के लिए चटाई पर पेट के बल लेट जाएं।
➢ अपने दोनों हाथों को अपने सीने के बगल में रख ले।
➢ अपने दोनों पैरों के बीच में थोड़ा अंतर बना लें।
➢ अब गहरी सांस लें और सांस छोड़ते हुए अपने नितंबों को जितना हो सके ऊपर उठाने का प्रयास करें।
➢ ऐसी स्थिति में आपके शरीर का पूरा वजन आपके हाथों और पैरों पर रहना चाहिए।
➢ अपनी नजरों को अपनी नाभि पर रखें।
➢ कुछ सेकंड इस स्थिति में रुकने के बाद सांस लेते हुए वापस सामान्य स्थिति में आ जाएं।

सीने में दर्द के लिए योग शवासन

➢ शवासन करने से हमारे पूरे शरीर को आराम मिलता है जिससे मांसपेशियों में आई अकड़न दूर होती है और सीने में मौजूद दर्द दूर होता है।
➢ शवासन करने के लिए चटाई पर पीठ के बल आराम से लेट जाएं।
➢ अपने दोनों पैरों के बीच में एक से डेढ़ फुट का अंतर बना ले।
➢ यह भी पढ़े: कमर दर्द के लिए सबसे अच्छा योग आसन
➢ अपने पैरों के पंजों को बाहर की तरफ रखें।
➢ अपने हाथों को बगल में सीधा फैला लें।
➢ अपनी गर्दन को सीधा रखें।
➢ इस स्थिति में कुछ देर तक आपको विश्राम करना है।

आमतौर पर पूछे जाने वाले सवाल और उनके जवाब

चेस्ट में पेन हो तो क्या करे?

कई बार गैस की वजह से सीने में दर्द उठ जाता है ऐसे में आपको सुबह गुनगुना पानी पीना चाहिए। ऐसा करने से गैस की परेशानी दूर होती है जिससे सीने का दर्द भी दूर हो जाता है। इसके साथ ही आपको अदरक का सेवन करना चाहिए। आप अदरक को अपनी चाय में मिलाकर पी सकते हैं या अदरक को पानी में उबालकर उस पानी का सेवन कर सकते हैं। ऐसा करने से भी गैस की परेशानी दूर होती है और चेस्ट पेन से राहत मिलती है।

सीने की दर्द के क्या क्या कारण हो सकते हैं?

सीने में दर्द होने के कई सारे कारण हो सकते हैं जैसे कि तनाव, दिल, फेफड़े, मांसपेशियों, नसों, पसलियों में कोई परेशानी, गैस की परेशानी आदि।

सारांश

सीने में दर्द होने के कई सारे कारण हो सकते हैं जैसे कि नसों में, पसलियों में, मांसपेशियों में कोई परेशानी होना, दिल या फेफड़े से जुड़ी कोई परेशानी, तनाव आदि। इस परेशानी से बचने के लिए आमतौर पर हम डॉक्टर से इलाज करवाते हैं और दवाइयों का सेवन करते हैं लेकिन दवाइयों का लगातार सेवन करना हमारे स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होता है। इसलिए सीने में दर्द से बचने के लिए सबसे आसान तरीका योग है। नियमित रूप से योग करके सीने में दर्द होने की परेशानी से बचा जा सकता है और इस परेशानी को हमेशा के लिए दूर किया जा सकता है। इसके साथ ही हमें अपने आहार में हरी पत्तेदार सब्जियां, अंकुरित अनाज, फल, दूध को भी शामिल करना चाहिए क्योंकि यह हमें पोषण देते हैं। यदि इन बातों का पालन किया जाए तो सीने में दर्द होने की परेशानी को आसानी से दूर किया जा सकता है।

यह भी पढ़े:-
योग द्वारा हर्निया का इलाज कैसे करें
बाल उगाने के योग- बालों को घना और लम्बा बनाने के लिए
साइनस के लिए योग- साइनस की परेशानी का अंत
सांस फूलने का योग- सांस की परेशानियों का प्राकृतिक उपचार
किडनी के लिए योग- किडनी की सभी परेशानियों का अंत

Published by
admin

Recent Posts

योग क्या है, योग कितने प्रकार के होते हैं

योग क्या है, योग कितने प्रकार के होते हैं योग क्या है महर्षि पतंजलि के… Read More

1 day ago

जल्दी हाइट बढ़ाने के योग कौन से है

जल्दी हाइट बढ़ाने के योग कौन से है लंबी हाइट होने से हमारा शरीर आकर्षक… Read More

3 days ago

कमर दर्द के लिए सबसे अच्छा योग आसन

कमर दर्द के लिए सबसे अच्छा योग आसन गलत तरीके से बैठने, लेटने, सोने और… Read More

5 days ago

योग द्वारा हर्निया का इलाज कैसे करें

योग द्वारा हर्निया का इलाज कैसे करें जब शरीर के किसी अंग में मांस बाहर… Read More

6 days ago

बाल उगाने के योग- बालों को घना और लम्बा बनाने के लिए

बाल उगाने के योग- बालों को घना और लम्बा बनाने के लिए वर्तमान समय में… Read More

1 week ago

साइनस के लिए योग- साइनस की परेशानी का अंत

साइनस के लिए योग- साइनस की परेशानी का अंत साइनस नाक से जुड़ी एक बीमारी… Read More

1 week ago