Categories: योग

सर्वाइकल के लिए योग- सर्वाइकल दर्द का अंत

Share

सर्वाइकल के लिए योग- सर्वाइकल दर्द का अंत

आज के समय में लोगों को घंटों तक कंप्यूटर के सामने एक ही स्थिति में बैठकर कार्य करना पड़ता है जिस वजह से उनकी गर्दन और हाथ, पैर में दर्द होने लगता है। यह दर्द ना केवल बड़ों में देखने को मिल रहा है बल्कि छोटे बच्चे जो गलत तरीके से बैठकर या गलत तरीके से लेट कर मोबाइल फोन में कई-कई घंटों तक गेम्स खेलते रहते हैं उनमें भी यह दर्द देखने को मिल रहा है।

जब हम एक ही स्थिति में लंबे समय तक कोई कार्य करते रहते हैं तो हमारी गर्दन के पिछले हिस्से में दर्द होना शुरू हो जाता है इसे ही सर्वाइकल पेन कहा जाता है। सर्वाइकल पेन होने पर असहनीय दर्द होता है और हम कुछ भी कार्य करने में सक्षम नहीं रह जाते हैं। इसीलिए सर्वाइकल का समय पर इलाज होना जरूरी है। सर्वाइकल के लिए योग सबसे कारगर माध्यम है। नियमित रूप से योग करके कुछ ही समय में सर्वाइकल से छुटकारा पाया जा सकता है।

सर्वाइकल के लिए योग भुजंगासन

➢ भुजंगासन करने से हमारे रीढ़ की हड्डी, हाथ, पैर और गर्दन की मांसपेशियां लचीली व मजबूत बनती हैं जिससे सर्वाइकल से राहत मिलती है।
➢ भुजंगासन करने के लिए किसी खुले स्थान पर पेट के बल लेट जाएं और आपको अपनी चिन को जमीन से लगा लेना है।
➢ अब अपने दोनों पैरों को एक दूसरे के पास ले आए।
➢ दोनों पैरों की एड़ियां आपस में मिली हुई होनी चाहिए।
➢ अपनी हथेलियों को अपने वक्षस्थल के बगल में रख लें।
➢ यह भी पढ़े: थायराइड के लिए योग-थायराइड को जड़ से खत्म करें
➢ अब सांस लेते हुए शरीर के अगले भाग को ऊपर उठाएं साथ ही अपने सिर को भी पीछे की तरफ झुकाना है।
➢ आपको अपनी क्षमता के अनुसार ही अपने शरीर के ऊपरी भाग को पीछे की तरफ झुकाना है। ज्यादा जोर नहीं लगाना है।
➢ कुछ देर इस स्थिति में रुके फिर साँस छोड़ते हुए वापस सामान्य अवस्था में आ जाएं।

सर्वाइकल के लिए योग मकरासन

➢ मकरासन करने से हमारी रीढ़ की हड्डी और मांसपेशियों को आराम मिलता है जिससे मांसपेशियों में अकड़न या तनाव होने पर वह दूर हो जाता है।
➢ मकरासन करने के लिए सबसे पहले पेट के बल योगा चटाई पर लेट जाएं।
➢ अब आपको अपनी दोनों कोहनियों को जमीन पर रख लेना है और अपने हाथों को अपनी चिन के नीचे रखना है।
➢ इस स्थिति में आपका सिर और कंधे जमीन से ऊपर उठे हुए होने चाहिए।
➢ अपने दोनों पैरों के बीच में थोड़ा अंतर बनाए रखें और अपने पूरे शरीर को ढीला छोड़ दें।
➢ इस अवस्था में आपको सामान्य गति से सांस लेते रहना है और अपनी आंखों को बंद रखना है।
➢ कुछ देर इस अवस्था में रुकने के बाद वापस सामान्य स्थिति में आ जाना है।

सर्वाइकल के लिए योग धनुरासन

➢ धनुरासन करने से भी रीढ़ की हड्डी और गर्दन, कंधे, पीठ, कमर की मांसपेशियों पर अच्छा खिंचाव आता है जिससे यह मांसपेशियां लचीली व मजबूत बनती है और सर्वाइकल से राहत मिलती है।
➢ धनुरासन करने के लिए पेट के बल जमीन पर लेट जाना है।
➢ अपने दोनों पैरों के बीच में कंधों जितना अंतर बनाए रखना है।
➢ अब आपको अपने दोनों घुटनों को मोड़ते हुए पैरों के पंजों को अपनी हिप के पास ले आना है।
➢ अपने दोनों हाथों को पीछे ले जाकर अपने हाथों से पैरों की एड़ियों को पकड़ लेना है।
➢ अब आपको सांस लेते हुए अपनी छाती को जमीन से ऊपर उठाना है और एड़ियों को खींचने का प्रयास करना है।
➢ एड़ियों को खींचते समय हाथों की कोहनियाँ, रीढ़ की हड्डी और सिर को सीधा रखें।
➢ सामान्य गति से सांस लेते रहें और आरामदायक अवधि के लिए ऐसी स्थिति में रुके।
➢ कुछ देर बाद साँस छोड़ते हुए वापस सामान्य स्थिति में आ जाएं।

सर्वाइकल के लिए योग सूर्य नमस्कार

➢ सूर्य नमस्कार करने से हमारी रीढ़ की हड्डी लचीली व मजबूत बनती है, गर्दन, कंधे, कमर, हाथ-पैर की मांसपेशियां मजबूत बनती हैं, हमारे शरीर की अतिरिक्त चर्बी दूर हो जाती है और वजन नियंत्रण में रहता है, हमारी पाचन शक्ति अच्छी होती है।
➢ सूर्य नमस्कार के 12 चरण होते हैं और प्रत्येक चरण अपने आप में पूर्ण आसन होता है।
सूर्य नमस्कार करने की विधि जानने के लिए पढ़े।

सर्वाइकल के लिए योगासन बालासन

➢ बालासन करने से भी हमारी रीढ़ की हड्डी, गर्दन की मांसपेशियां लचीली व मजबूत बनती हैं जिससे सर्वाइकल में लाभ होता है।
➢ बालासन करने के लिए वज्रासन की स्थिति में योगा चटाई पर बैठ जाएं।
➢ गहरी सांस लेते हुए अपने हाथों को सीधा ऊपर उठा ले।
➢ यह भी पढ़े: घबराहट के लिए योग
➢ सांस छोड़ते हुए अपनी कमर को सामने की तरफ झुकाले और अपने माथे को जमीन से लगा ले।
➢ अपने हाथों को भी जमीन पर सीधा फैला लें।
➢ इस अवस्था में सामान्य गति से सांस लेते रहें और कुछ देर बाद वापस सामान्य अवस्था में आ जाएं।

सर्वाइकल के लिए योग शवासन

➢ शवासन करने से हमारे पूरे शरीर की हड्डियों और मांसपेशियों को आराम मिलता है जिससे इनमें मौजूद अकड़न दूर हो जाती है जिससे सर्वाइकल में भी लाभ होता है।
➢ शवासन करने के लिए योगा चटाई पर पीठ के बल लेट जाना है।
➢ अपने दोनों पैरों को सीधा रखें और दोनों पैरों के बीच में एक से डेढ़ फुट का अंतर बना लें।
➢ अपने हाथों को अपनी कमर के बगल में फैलाले और हाथों की कोहनियाँ सीधी रखें।
➢ अपने सिर को भी सीधा रखें और अपनी आंखों को बंद कर ले।
➢ इस अवस्था में सामान्य गति से सांस लेते रहें और कुछ देर के लिए विश्राम करें।
➢ शवासन योगासनों के आखिर में किया जाने वाला आसन है क्योंकि इससे हमारे पूरे शरीर को आराम मिलता है।

आमतौर पर पूछे जाने वाले सवाल और उनके जवाब

सर्वाइकल कैसे ठीक होता है?

सर्वाइकल को ठीक करने के लिए नियमित रूप से योग अभ्यास करना चाहिए। योग में मत्स्यासन, भुजंगासन, मकरासन, शवासन, धनुरासन का अभ्यास करना चाहिए। इनके अभ्यास से रीढ़ की हड्डी और गर्दन की मांसपेशियां लचीली व मजबूत बनती हैं जिससे सर्वाइकल में लाभ होता है। इसके साथ ही सर्वाइकल पेन होने पर आपको बर्फ की सिकाई भी करना चाहिए।

सर्वाइकल में क्या क्या खाना चाहिए?

सर्वाइकल की परेशानी होने पर आपको लहसुन का सेवन करना चाहिए। लहसुन में औषधीय गुण पाए जाते हैं जो जलन, दर्द और सूजन को कम करते हैं। तिल का सेवन करना चाहिए। तिल का सेवन करने से हड्डियां मजबूत बनती हैं जिससे सर्वाइकल पेन में राहत मिलती है। इसके साथ ही हल्दी का सेवन भी करना चाहिए। हल्दी एक नेचुरल पेन किलर की तरह कार्य करती है जिससे सर्वाइकल पेन में राहत मिलती है।

सर्वाइकल में कहाँ कहाँ दर्द होता है?

सर्वाइकल की परेशानी होने पर गर्दन में दर्द होता है, गर्दन अकड़ जाती है और हिलाने-डुलाने में परेशानी होती है, हाथ-पैर और पंजों में झुनझुनी आ जाती है, कई बार हाथ-पैर सुन्न भी हो जाते हैं, सिर के पिछले भाग, कंधों में भी दर्द महसूस होता है और चलने में भी परेशानी होती है। सर्वाइकल का दर्द गर्दन के पिछले भाग में रीढ़ की हड्डी के जोड़ों और डिस्क में समस्या होने पर होता है।

सर्वाइकल कितने दिन में ठीक होता है?

सर्वाइकल गर्दन में होने वाला दर्द है जिसे नियमित रूप से योग करके 4 से 6 महीनों में आसानी से ठीक किया जा सकता है। यदि गंभीर सर्वाइकल की परेशानी है तो इसमें थोड़ा और समय लग सकता है।

सर्वाइकल में चक्कर आते हैं क्या?

सर्वाइकल गर्दन में होने वाला दर्द है जिसमें गर्दन को दाएं-बाएं घुमाने में दर्द महसूस होता है। ऐसे में उठने-बैठने में और चलने-फिरने में भी काफी परेशानी होती है। कई बार सर्वाइकल में सिर दर्द होने पर चक्कर भी आ जाते हैं।

सारांश

सर्वाइकल गर्दन में होने वाला एक दर्द है जिसमे गर्दन को घुमाने में दर्द होता है जिस वजह से चलने-फिरने में और दूसरे कार्य करने में भी परेशानी होती है। सर्वाइकल होने के प्रमुख कारण होते हैं लंबे समय तक एक ही स्थिति में बैठकर कार्य करना, मोबाइल फोन पर लगातार गलत तरीके से बैठकर या लेट कर गेम्स खेलना, मोबाइल का लंबे समय तक इस्तेमाल करना जिस वजह से गर्दन की मांसपेशियों में अकड़न आ जाती है और तेज दर्द होने लगता है।

सर्वाइकल को ठीक करने के लिए नियमित रूप से योग करना सबसे अच्छा माध्यम है। योग करने से हमारी मांसपेशियां लचीली पर मजबूत बनती है व हड्डियां भी मजबूत होती हैं जिससे सर्वाइकल से छुटकारा मिलता है। योग करने के साथ-साथ हमें अपने आहार में तिल को शामिल करना चाहिए क्योंकि तिल को खाने से हड्डियां मजबूत होती हैं, लहसुन को शामिल करना चाहिए क्योंकि लहसुन में कई सारे पोषक तत्व होते हैं जो हमें दर्द से राहत दिलाते हैं। यदि इन बातों को ध्यान में रखकर आप योग करेंगे तो सर्वाइकल पेन से जल्द ही छुटकारा पा सकते हैं।

यह भी पढ़े:-
चेस्ट कम करने की योग
दिल को मजबूत बनाने के लिए योग
सुंदर दिखने के लिए योग – योगा से पाएं सुंदर काया
गर्भाशय के लिए योग-गर्भाशय को स्वस्थ बनाने के लिए 5 योगासन
साइटिका पेन योग-साइटिका दर्द के लिए योग

Published by
admin

Recent Posts

थायराइड के लिए योग-थायराइड को जड़ से खत्म करें

थायराइड के लिए योग-थायराइड को जड़ से खत्म करें थायराइड एक ग्रंथि होती है जो… Read More

20 hours ago

घबराहट के लिए योग

घबराहट के लिए योग जब हम किसी नए कार्य की शुरुआत करते हैं तो हमारे… Read More

1 day ago

चेस्ट कम करने की योग

चेस्ट कम करने की योग खराब लाइफस्टाइल की वजह से मोटापा बढ़ जाता है जिस… Read More

2 days ago

दिल को मजबूत बनाने के लिए योग

दिल को मजबूत बनाने के लिए योग यदि आप लंबी उम्र तक जीवित रहना चाहते… Read More

2 days ago

सुंदर दिखने के लिए योग – योगा से पाएं सुंदर काया

सुंदर दिखने के लिए योग - योगा से पाएं सुंदर काया सुंदर दिखना हर किसी… Read More

3 days ago

गर्भाशय के लिए योग-गर्भाशय को स्वस्थ बनाने के लिए 5 योगासन

गर्भाशय के लिए योग-गर्भाशय को स्वस्थ बनाने के लिए 5 योगासन वर्तमान समय में महिलाओं… Read More

4 days ago