Ad Code

सर्वांगासन क्या है, सर्वांगासन के लाभ | Sarvangasana Kya Hai, Sarvangasana Ke Labh

सर्वांगासन क्या है, सर्वांगासन के लाभ | Sarvangasana Kya Hai, Sarvangasana Ke Labh

सर्वांगासन क्या है, सर्वांगासन के लाभ | Sarvangasana Kya Hai, Sarvangasana Ke Labh


सर्वांगासन का अर्थ इसके नाम से ही पता चलता है। इस आसन को करने से हमारे शरीर के सभी अंगों को लाभ होता है इसी कारण इसे सर्वांगासन कहा जाता है। सर्वांगासन करने में सरल होता है। जिन लोगों के पास समय की कमी होती है वे यदि सर्वांगासन करते हैं तो उन्हें स्वास्थ्य लाभ प्राप्त होता है। यह आसन ना केवल पुरुषों के लिए वरदान है बल्कि महिलाओं को भी इससे बहुत लाभ प्राप्त होता है। सर्वांगासन करने से हमारे पूरे शरीर को अनेको लाभ प्राप्त होते हैं।


सर्वांगासन के लाभ (Sarvangasana Ke Labh)


(1) सर्वांगासन करने से थायराइड ग्रंथि सक्रिय हो जाती है। जिन लोगों को थायराइड की परेशानी होती है उनकी थायराइड से संबंधित सभी परेशानियां इसे करने से दूर हो जाती हैं।

यह भी पढ़ें: हलासन योग करने से होने वाले अद्भुत लाभ

(2) सर्वांगासन करने से दिल की मांसपेशियां भी सक्रिय हो जाती है जिससे दिल तक रक्त का संचार बढ़ जाता है और अधिक मात्रा में रक्त शुद्ध होता है। साथ ही दिल भी स्वस्थ बना रहता है।

(3) सर्वांगासन पाचन क्रिया को बेहतर बनाता है जिससे पाचन से जुड़ी परेशानियां कब्ज, गैस दूर होते हैं।

(4) सर्वांगासन शारीरिक दुर्बलता को भी दूर करता है। इसे करने से शरीर में ऊर्जा का संचार बढ़ जाता है और थकान दूर होती है।

(5) सर्वांगासन हाथ, पैर, कंधे, गर्दन, पीठ की मांसपेशियों को लचीला व मजबूत बनाता है।

(6) सर्वांगासन करने से मस्तिष्क की तरफ रक्त का संचार बढ़ जाता है जिससे मस्तिष्क की क्षमता बढ़ती है और मानसिक विकास होता है।

(7) सर्वांगासन करने से मोटापा दूर होता है इसलिए जो लोग जिम नहीं जा पाते और घर पर रहकर ही मोटापा कम करना चाहते हैं उनके लिए सर्वांगासन सबसे अच्छा उपाय है।

(8) सर्वांगासन करने से महिलाओं की मासिक धर्म से जुड़ी परेशानियां भी दूर होती है।

(9) सर्वांगासन करने से बांझपन और गर्भपात जैसी परेशानियां भी नहीं होती।

यह भी पढ़ें: ताड़ासन योग से होने वाले लाभ

(10) सर्वांगासन करने से रक्त का संचार सिर की तरफ बढ़ जाता है जिससे बाल घने, मुलायम और काले होते हैं इसलिए जिन लोगों के बाल कम उम्र में ही सफेद हो रहे हैं, झड़ रहे हैं उन्हें सर्वांगासन का अभ्यास जरूर करना चाहिए।

(11) सर्वांगासन करने से चेहरे की तरफ भी रक्त का संचार बढ़ जाता है जिससे चेहरे पर चमक आती है, झुर्रियां दूर होती है और चेहरे की सुंदरता बढ़ती है।

(12) सर्वांगासन करने से गले के रोग, वात रोग, रक्त विकार, टॉन्सिल, सिरदर्द, त्वचा रोग जैसी बीमारियां भी दूर होती है।

आमतौर पर पूछे जाने वाले सवाल और उनके जवाब


(1) सर्वांगासन कितने मिनट करना चाहिए?


यदि आपने अभी-अभी सर्वांगासन करना शुरू किया है तो आपको 2 मिनट से लेकर 5 मिनट तक सर्वांगासन का अभ्यास करना चाहिए। कुछ समय के बाद आपको इसके समय को बढ़ाकर 10 से 15 मिनट कर लेना चाहिए।

(2) सर्वांगासन कब नहीं करना चाहिए?


खाना खाने के तुरंत बाद, चोट लगने पर, ज्यादा बीमार होने पर, गर्भावस्था में, ऑपरेशन होने के बाद सर्वांगासन का अभ्यास नहीं करना चाहिए।

यह भी पढ़ें:-
वज्रासन से होने वाले लाभ
सूर्य नमस्कार करने से होने वाले लाभ
पेट कम करने के लिए कौन सा योग करना चाहिए

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Ad Code