Ad Code

रीड की हड्डी में जकड़न होने पर क्या करें? Traditional Yoga For Backbone, Yoga Asanas For Backbone

रीड की हड्डी में जकड़न होने पर क्या करें? Traditional Yoga For Backbone, Yoga Asanas For Backbone

रीड की हड्डी में जकड़न होने पर क्या करें? Yoga For Backbone, Yoga Asanas For Backbone

(1) रीड की हड्डी टेढ़ी हो जाए तो क्या करना चाहिए?

रीड की हड्डी टेढ़ी हो जाए तो नियमित रूप से योग करना चाहिए। योग में ऐसे योगासन है जिनसे आप अपनी रीढ़ की हड्डी को सीधा कर सकते हैं और लचीला व मजबूत भी बना सकते हैं। योग में आप भुजंगासन, पर्वतासन, शीर्षासन, चक्रासन, धनुरासन, नौकासन, पवनमुक्तासन जैसे आसनों का अभ्यास कर सकते हैं। इन आसनों के अभ्यास से रीढ़ की हड्डी लचीली, मजबूत व सीधी बनती है।

(2) रीढ़ की हड्डी को मजबूत कैसे बनाएं? (How To Make Strong Spinal Cord)

रीढ़ की हड्डी को मजबूत बनाने के लिए आपको नियमित रूप से योग अभ्यास करना चाहिए। योग में आप पश्चिमोत्तानासन, पादहस्तासन, ताड़ासन, चक्रासन, सर्वांगासन, हलासन, शीर्षासन जैसे आसनों का अभ्यास कर सकते हैं। इन आसनों के अभ्यास से हमारी रीढ़ की हड्डी मजबूत होती है। योग करने के साथ ही आपको अपने भोजन में हरी पत्तेदार सब्जियां, अंकुरित अनाज, फल, दूध को शामिल करना चाहिए। नियमित रूप से सूखे मेवे जैसे कि काजू, बादाम, अखरोट, किशमिश को खाना चाहिए। इनसे हमें आवश्यक पोषक तत्व प्राप्त होते हैं जो हमारी हड्डियों को मजबूत बनाते हैं।


(3) रीड की हड्डी को मजबूत करने के लिए कौन सा आसन करना चाहिए? (Yoga For Spine Strength)

रीड की हड्डी को मजबूत करने के लिए आपको भुजंगासन, धनुरासन, नौकासन, शीर्षासन, सर्वांगासन का अभ्यास करना चाहिए। इन आसनों का अभ्यास करने से हमारी रीढ़ की हड्डी मजबूत बनती है। शुरुआत में आपको सरल आसनों का अभ्यास करना चाहिए जैसे कि भुजंगासन, ताड़ासन, नौकासन। इन आसनों का अभ्यास करने के बाद आपको थोड़े कठिन आसनों जैसे शीर्षासन, सर्वांगासन, धनुरासन का अभ्यास करना चाहिए।

यह भी पढ़े: अनुलोम विलोम प्राणायाम करने का सही तरीका क्या है?

(4) रीड की हड्डी में कितने मनके होते हैं?

रीड की हड्डी में 33 मनके होते हैं। इन मनको के बीच में डिस्क पाई जाती है जिसके खिसकने पर हमें बहुत तकलीफ होती है।

(5) रीड की हड्डी में दर्द हो तो क्या खाना चाहिए?

रीड की हड्डी में दर्द हो तो आपको विटामिन सी से युक्त फल, सब्जियों को खाना चाहिए। विटामिन सी से युक्त फल, सब्जियों को खाने से रीड की हड्डी लंबी उम्र तक मजबूत बनी रहती है। आपको नियमित रूप से अमरूद, अंगूर, सेब, नींबू, मौसम्बी, संतरा इन फलों का सेवन करना चाहिए। इनमें विटामिन सी भरपूर मात्रा में होता है। इसके साथ ही आपको डेयरी उत्पादों का भी सेवन करना चाहिए। डेयरी उत्पादों में कैल्शियम अधिक मात्रा में पाया जाता है। कई बार कैल्शियम की कमी होने से भी हमारी रीढ़ की हड्डी में दर्द होने लगता है इसीलिए डेयरी उत्पाद जैसे कि दूध, पनीर इनका भी हमें नियमित रूप से सेवन करते रहना चाहिए। रीड की हड्डी के दर्द को दूर करने के लिए आप सरसों के तेल की मालिश भी कर सकते हैं। आपको अपनी रीढ़ की हड्डी में हल्के हाथों से सरसों के तेल की मालिश करनी है। ऐसा करने से भी रीढ़ की हड्डी मजबूत होती है और दर्द कुछ ही दिनों में पूरी तरह दूर हो जाता है।

यह भी पढ़े: ताड़ासन करने का सबसे बड़ा लाभ क्या है?

(6) रीड की हड्डी में जकड़न होने पर क्या करें? (Stiffness In The Spine)

रीड की हड्डी में जकड़न होने पर कुछ योगासनों का अभ्यास करना चाहिए जैसे कि भुजंगासन, ताड़ासन, पर्वतासन, बालासन, मंडूकासन, शवासन। इन आसनों का अभ्यास करने से रीढ़ की हड्डी की जकड़न दूर हो जाती है। रीड की हड्डी में जकड़न होने पर किसी भी आसन का अभ्यास बहुत ही सावधानी से करना चाहिए। बहुत ज्यादा ताकत या जोर जबरदस्ती नहीं करना चाहिए। ऐसा करने से आपकी परेशानी बढ़ सकती है।

(7) रीढ़ की हड्डी को सीधा कैसे करे? (How To Straighten Your Spinal Cord)

योग करके आप अपनी रीढ़ की हड्डी को सीधा कर सकते हैं। रीढ़ की हड्डी को सीधा करने के लिए आपको भुजंगासन, पर्वतासन, धनुरासन, नौकासन, हलासन, चक्रासन, बालासन, मंडूकासन जैसे आसनों का अभ्यास करना चाहिए। रीढ़ की हड्डी को सीधा करने के लिए योग करते समय बहुत सावधानी से योगाभ्यास करना चाहिए। यदि आपके पास योग की पर्याप्त जानकारी ना हो तो किसी योग के विशेषज्ञ से आप सलाह ले सकते हैं या उनके मार्गदर्शन में योगाभ्यास कर सकते हैं।

यह भी पढ़े:-

मोटापा कम करने के लिए कौन सा योग करें?

एड़ी का दर्द ठीक करने के लिए क्या करें?

सर्वांगासन का अभ्यास किस समय करना चाहिए?

कपालभाति और भस्त्रिका प्राणायाम में क्या अंतर होता है?

सुबह योग करने से कौन से लाभ होते है?

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ

Ad Code